Advertisement

PM Swamitva Yojana : किसानों को मिल रहे हैं जमीन के पटटे

Advertisement

PM Swamitva Yojana : किसानों को मिल रहे हैं जमीन के पटटे – PM Swamitva Yojana Online Registration – Swamitva Yojana Launch Date – Swamitva Yojana Started in Which Year – Rajasthan – Haryana – Punjab – Madhya Pradesh – Uttar Pradesh – प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना की जानकारी – स्वामित्व योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन – स्वामित्व योजना का मतलब क्या होता है

जैसा कि दोस्तों आपको तो पता ही हैं कि हमारा भारत देश एक कृषि प्रधान देश हैं और देश में ज्यादातर लोग खेती यानि कृषि पर ही निर्भर हैं ऐसे में किसानों की जरूरत को देखते हुये हैं सरकार ने जिन किसानों के पास अपने जमीन का मालिकाना हक नहीं हैं यानि किसान के पास जमीन के कागजात वगैरहा नहीं हैं तो ऐसे किसानों के जमीन सम्बन्धित कागजात बनाने के लिए पीएम स्वामित्व नाम की योजना को चलाया हैं जिससे इस स्कीम के द्वारा किसानों को अब उनकी जमीन के सही कागज प्रधान किये जायेगें। आपको इस स्कीम का लाभ कैसे मिलेगा क्या पात्रता हैं और आवेदन कैसे करना हैं उसके लिए आर्टिकल को लॉस्ट तक पढ़ते रहिए।

Advertisement

PM Swamitva Yojana Kya Hain?

सरकार द्वारा सभी वर्गो के लिए विभिन्न प्रकार की सरकारी योजनाएं चलाई जाती हैं ताकि देश के सभी लोगों को जो पात्र हैं उन्हें लाभ मिल पायें। ऐसे में ही देश के प्रधानमंत्री जी द्वारा किसानों को सामाजिक आर्थिक सशक्तिकरण और आत्मनिर्भर ग्रामीण भारत को बढ़ावा देने के लिए 24 अप्रैल 2020 को पीएम स्वामित्व योजना को शुरू किया गया हैं जिसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले किसानों को उनकी जमीन का असली मालिकाना हक यानि उनकी जमीन के जरूरी कागज बनायें जायेगें।

इस योजना के तहत मानचित्रण और सर्वेक्षण की आधुनिक तकनीकी साधानों के द्वारा और ड्रोन की मदद से किसानों की जमीन के पटटे/कागज बनाये जायेगें। दरअसल ड्रोन के द्वारा जमीन की मैपिंग की जायेगी जिससे बहुत जल्द समय में जमीन की माप हो सकेगी और कागज बनाने में भी सहायता मिलेगी यानि आप ऐसे भी कह सकते हों कि ड्रोन को जमीन के उपर हवा में उड़ाया जायेगा और जमीन की नाप ले ली जायेगी। आपको तो पता ही हैं कि जब जमीन के सभी रिकॉर्ड तैयार रहेगें तो किसान का आत्मविश्वास भी बढ़ेगा और किसानों का विकास भी होगा।

PM Swamitva Yojana : किसानों को मिल रहे हैं जमीन के पटटे
PM Swamitva Yojana

Benefits of PM Swamitva Yojana/योजना के लाभ

दोस्तों किसानों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुये सरकार द्वारा इस स्कीम में कुछ लाभ दिये जाते हैं:-

Advertisement
  • इस स्कीम में ग्रामीण क्षेत्रों की आवासीय भूमि की पैमाइश ड्रोन के द्वज्ञरा की जायेगी।
  • ड्रोन से गॉंवों की सीमा के भीतन आने वाली प्रत्येक सम्पत्ति का डिजीटल रूप से नक्शा तैयार किया जायेगा।
  • सटीक मापन के आधार पर गॉंवों के प्रत्येक घर का सम्पत्ति कार्ड राज्य सरकार के द्वारा बनाया जायेगा।
  • जमीन के असली मालिक को ही जमीन का मालिकाना हक दिया जायेगा।
  • जब आपकी जमीन का मालिकाना तैयार हो जायेगा तो आप अपनी जमीन के आधार पर लोन/ऋण भी ले पाओगें।
  • और जब आपकी जमीन के सभी दस्तावेज तैयार हो जायेगें तो इससे आपकी जमीन की रेट भी बढ़ जायेगी।
  • स्कीम के तहत आपकी पंचायत के पास भी आपका रिकॉर्ड होगा तो सरकार के द्वारा जो भी सरकारी योजनाओं को चलाया जायेगा उसका लाभ भी आपको आसानी से मिल पायेगा।
  • फिर आपकी जमीन पर कोई भी व्यक्ति अवैध कब्जा या नाजायक हक नहीं जमा पायेगा।

कौनसे राज्यों के किसानों को मिलेगा PM Swamitva Yojana का लाभ?

पीएम स्वामित्व योजना को अभी फिलहाल कुछ ही राज्यों में चालू किया गया हैं जिनमें महाराष्ट्र, हरियाणा, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, पंजाब, राजस्थान और उत्तराखंड के कुछ गॉंवों में 2020-21 के दौरान लागू किया गया हैं लेकिन किसान भाइयों जल्द ही इस स्कीम के देश के बाकी के राज्यों में भी चालू करने पर ध्यान दिया जा रहा हैं। सरकार का कहना हैं कि इस स्कीम के तहत 2021 से 2025 तक लगभग पूरे देश में 6.62 लाख गाँवों को शामिल किया जा सकेगा।

इतने लोगों को अभी तक मिल चुका हैं सम्पत्ति कार्ड

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा 24 अप्रैल 2021 को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर वीड़ियों कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से स्वामित्व योजना के अन्तर्गत ई-सम्पत्ति कार्डो का वितरण किया गया इस अवसर पर लगभग 4.09 लाख संपत्ति मालिकों को उनके ई-सम्पत्ति कार्ड दिये गये। इस अवसर पर ही राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार भी प्रदान किये गये जिसमें दीन दयाल उपाध्याय सशक्तिकरण पुरस्कार, नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार, ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार, बच्चों के अनुकूल ग्राम पंचायत पुरस्कार और ई-पंचायत पुरस्कार को लगभग 12 राज्यों को दिया गया।

जिन लोगों के पास पहले से ही कागज हैं

अब बात आती हैं जिन किसानों के पास पहले से ही अपनी जमीन के कागज मौजूद तो उनकाे क्या करना होगा तो दोस्तों आपको बता दे कि ऐसे किसानों को अपने कागजों की फोटोकॉपी को पंचायत में जमा करवा देना हैं ताकि उनकी मैपिंग हो पाये और जिनके पास अपनी जमीन का कोई भी कागज नहीं हैं उन्हें सरकार की ओर से घिरौनी नाम का दस्तावेज दिया जायेगा।

Advertisement

मालिकाना हक पाने के लिए क्या करना होगा

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना (PM Swamitva Yojana) के तहत आपकी जमीन का रिकॉर्ड तैयार किया जायेगा जिसके लिए आपको प्रॉपटी कार्ड बनवाना होगा।

प्रॉपटी कार्ड कैसे मिलेगा

प्यारे किसानों भाइयों आपको ज्यादा टेंशन लेने की जरूरत बिल्कुल भी नहीं हैं जो किसान गॉंवों में रहते हैं उनको इस स्कीम के तहत प्रॉपटी कार्ड के लिए आवेदन करने की जरूरत नहीं हैं सरकार के द्वारा जैसे-जैसे ग्रामीण भारत में सर्वे और मैपिंग का काम होता जायेगा वैसे-वैसे ही आपकी जमीन का प्रॉपटी कार्ड बनता जायेगा और आपको प्रॉपटी कार्ड मिल जायेगा।

PM Swamitva Yojana Official website – https://svamitva.nic.in/svamitva/

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *